Menu
header photo

 THE FIT HEART 

The Way To A Healthy Heart

Blog Search

Comments

एंजियोप्लास्टी के बाद दिल की कार्यक्षमता बढ़ना

सर आपको नमस्कार।

सर मेरे बड़े भैया की उम्र29 year है। वो एक सरकारी अस्पताल में male nurse है। उनको गत 22 नवम्बर को हार्ट अटैक आया जब उसी दिन 3बजे हमने उनका 2D करवाया तो उनका cardiac output 35%आया(उनको सुबह 6 बजे 22नवम्बर को ही DC shock लगे थे) । 23नवम्बर को एंजियोग्राफी कराने पर LAD में 70% ब्लॉकेज आया और जब 27 नवम्बर को जब वापस हमने उनका 2D करवाया तो cardiac output 55% आया। अब क्या करना चाहिए??

(MK, Makrana, Rajasthan)

जब हार्ट अटैक होता है तो दिल को नुक्सान या damage होता है और इसकी कार्यक्षमता या इजेक्शन फ्रैक्शन कम हो जाता है ( सामान्यतः इजेक्शन फ्रैक्शन ५५% से अधिक होता है)। कुछ लोगो में दिल को स्थायी (permanent) नुकसान हो जाता है (जिसे इन्फार्क्शन कहते है) जबकि कुछ लोगो में यह नुक्सान अस्थायी (temporary) होता है (इसे myocardial stunning कहते है)। मायोकार्डियल stunning की स्तिथि में अगर सही समय पर दिल की नस का ब्लॉकेज  (दवाई या एंजियोप्लास्टी या बाईपास ऑपरेशन के द्वारा) खोल दिया जाए तो इजेक्शन फ्रैक्शन वापस बढ़ सकता है। 
आपके भाई में भी संभवतः यही हुआ होगा। इसी कारण एंजियोप्लास्टी करने के बाद उनकी दिल की कार्यक्षमता (इजेक्शन फ्रैक्शन) ३५% से बढ़कर ५५% हो गई है, जो कि एक अच्छी बात है।
लेकिन इन सब बातों के बारे में ज्यादा सटीक उत्तर आपको वही डॉक्टर दे सकते है जिन्होंने आपके भाई और उनकी सभी रिपोर्ट्स को स्वयं देखा है। इसलिए कृपया अपने भाई को उनके हृदयरोगतज्ञ को दिखाकर उनसे विस्तार से चर्चा करें और उनकी सलाह का उचित पालन करें। 
उम्मीद है आपको मेरे उत्तर से सही दिशा मिलेगी।
 
(कृपया यह ज्ञात रहे चूँकि मैंने आपके मरीज़ का स्वयं परिक्षण नहीं किया है, इसलिए मेरी सलाह को अंतिम निर्णय ना माने। यह केवल आपके मार्गदर्शन के लिए है। पहले अपने हृदयरोगतज्ञ को मरीज़ दिखाएँ, उनसे विस्तार से चर्चा करें और फिर उनकी सलाह का उचित पालन करें)

Go Back

Comment